Sunday, August 17, 2014

नमकीन बात

इसमें कोई संदेह नहीं  
आपका नमक खाया है
खाया है, पसीने में बहाया है
पर आपने शोणितपान करते कभी सोचा है
रक्त में निहित सामुद्रिक स्वाद के पीछे क्या है
अब कहिये
नमकहराम कौन है ?


(निहार रंजन, ऑर्चर्ड स्ट्रीट, १७ अगस्त २०१४)

11 comments:

  1. शोणितपान करने वाले

    ReplyDelete
  2. बहुत सुन्दर और भावुक अभिव्यक्ति

    जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाऐं ----
    सादर --

    कृष्ण ने कल मुझसे सपने में बात की -------

    ReplyDelete
  3. ये तो सच कहा।खून में नमक तो होता है।

    ReplyDelete
  4. बात बहुत गहरे चोट करती है -अगर कोई ज़रा सा सोचे !

    ReplyDelete
  5. सच कहा भावुक अभिव्यक्ति

    ReplyDelete
  6. काफी वैज्ञानिक टाइप की क्षणिका है :)
    saty hai

    ReplyDelete
  7. किसने किसका नमक खाया ... मानने से है ये सब ...
    बहुत प्रभावी ...

    ReplyDelete